WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Karwa Chauth Vrat Vidhi In Hindi 2023: अगर पहली बार है करवा चौथ का व्रत, तो जान ले यह जरूरी नियम

Karwa Chauth Vrat Vidhi In Hindi 2023: जैसा कि आप सभी जानते है कि धार्मिक मान्यताओं में करवा चौथ का व्रत बेहद महत्वपूर्ण व्रत माना जाता है यह व्रत निर्जला व्रत होता है जिसे सुहागन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए रखती है। आपको बता दें कि इस वर्ष करवा चौथ व्रत 1 नवंबर को पड़ने वाला है। तो अगर आपकी भी नई नई शादी हुई है और आपका पहला करवा चौथ का व्रत है तो आपको कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना होगा। तो चलिए जानते है कि करवा चौथ का व्रत रखने के लिए किन बातों का ध्यान रखना महत्वपूर्ण है। (Karwa Chauth Vrat Vidhi In Hindi 2023)

Karwa Chauth Vrat Vidhi In Hindi 2023?

Karwa Chauth Vrat Vidhi In Hindi 2023
Karwa Chauth Vrat Vidhi In Hindi 2023

व्रत की शुरुआत:- शायद आप लोग जानते होंगे कि करवा चौथ के व्रत की शुरुआत सुबह सरगी खा कर की जाती है। ऐसे में अगर आप पहली बार व्रत रख रही है तो आपको सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठ जाएं और स्नान आदि करके सरगी का सेवन करें। ऐसा माना जाता है कि सरगी का सेवन दिन की शुरआत यानी कि सूर्योदय से पहले ही कर लेना चाहिए। वहीं सास द्वारा बहु को सरगी देने की परंपरा भी है।

इसी प्रकार की ताजा अपडेट पाने हेतु गूगल न्यूज पर फॉलो करें। ताकि जब भी कोई नई सूचना आएगी तो गूगल आपको तुरंत सूचित करेगा फॉलो करने के लिए नीचे दिए बटन पर क्लिक करें, उसके बाद स्टार पर क्लिक करें

16 श्रंगार :- करवा चौथ का व्रत सुहागन महिलाएं अपने पति की सलामती के लिए रखती है तो इसलिए इस दिन महिलाओं को 16 श्रंगार अवश्य करना चाहिए इसका बहुत महत्व माना जाता है। इस दिन महिला सुहाग से जुड़ी सारी चीजें पहन कर सज धज कर पूजा करें और व्रत का समापन करें।

मेंहदी रखें :- करवा चौथ का व्रत रखने वाली महिलाएं महेंदी ज़रूर लगाएं क्योंकि किसी शुभ काम को करने से पहले महिलाएं मेंहदी लगाती है इसलिए इस दिन भी महिलाएं मेंहदी ज़रूर लगाए चाहे व्रत रखें या नहीं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

न करें भूल कर भी ये काम:- अखंड सौभाग्य का वरदान पाना चाहती हैं तो करवा चौथ के दिन भूलकर भी काले, भूरे, नीले या सफेद रंग के कपड़े नहीं पहनने चाहिए। इस दिन लाल, गुलाबी और हरे रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है।

व्रत समापन विधि:- करवा चौथ के व्रत में संध्या के समय पूजन करने का विशेष महत्व माना जाता है इस दिन चांद निकलने के दौरान पूजा और व्रत कथा का पाठ करके चंद्रमा को अर्घ्य दिया जाता है। उसके बाद छलनी से चंद्रमा के दर्शन किए जाते है। और उसके बाद पति का चेहरा भी छलनी से देखा जाता है। उसके बाद पति के द्वारा पत्नी को पानी पिला कर व्रत का समापन किया जाता है। व्रत के समापन में बाद सात्विक भोजन ही करना चाहिए।

नोट:- इस आर्टिकल में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। करवा चौथ व्रत से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ से जरूर जानकारी प्राप्त कर लें। क्योंकि अलग क्षेत्र में अलग अलग रिवाज होती है।

Home Page Click Here
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Karwa Chauth Vrat Vidhi In Hindi 2023?

Leave a Comment